Guru purnima 2020 puja Vidhi-कितने बजे तक रहेगा गुरुओं के पूजा का मुहुर्त,जानिए सब

Guru purnima 2020 puja Vidhi-कितने बजे तक रहेगा गुरुओं के पूजा का मुहुर्त,जानिए सब
Guru purnima 2020 puja Vidhi-कितने बजे तक रहेगा गुरुओं के पूजा का मुहुर्त,जानिए सब

Guru purnima 2020 puja Vidhi– गुरु पूर्णिमा का पर्व हिन्दू धर्म में विशेष महत्व रखता है।ये दिन गुरुओं को समर्पित है।इस दिन तमान ग्रंथो की रचना करने वाले महर्षि वेदव्यास का जन्म हुआ था।तभी उनके सन्मान में आषाढ़ मास के पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है।
गुरु पूर्णिमा का महत्व:महर्षि वेद व्यास संस्कृत के महान विद्वान थे। महाभारत जैसा महाकाव्य उनके द्वारा लिखा गया था। इनके अलावा 18 पुराणों के रचितं भी महर्षि वेदव्यास किये है।सभी वेदों को विभजित करने का क्षेय उनको ही जाता है। गुरू पूर्णिमा को व्यास पूर्णिमा के नाम से भी जाना जात है।गुरु पूर्णिमा के दिन गुरु की पूजा करने का विशेष महत्व है।
गुरु पुर्णिमा की पूजा विधि: सुबह जल्दी उठकर स्नान कर कर स्वच्छ वस्त्र धारण करे।बाद में घरके मंदिर में या किसी चौकी पर सफेद कपड़ा बिछाकर उसपर 12-12 रेखाय बनाकर व्यजपीठ बनाये।इसके बाद” गुरुपरंपरासिद्धयर्थं व्यासपूजां करिष्ये” मंत्र का जप करे।फिर अपने गुरु की प्रतिमा की पूजा करे।उन्हें पंचमुत, मिठाई, पंचामृत का भोग लगाई ये।यदि आपके गुरु सामने हो तो उनके चरण धोकर तिलक लगाकर फूल अर्पित करे,उन्हें भोजन अर्पित करे।उसके बाद उन्हें दीक्षा देकर उन्हें अलविदा करे.
गुरु पौर्णिमा तिथी और शुभ
गुरु पौर्णिमा की तिथि-5 जुलाई
गुरु पौर्णिमा प्रारंभ: 4 जुलाई 2020 को सुबह 11 बजकर 33 मिनिट
गुरु पौर्णिमा सम्पति:5 जुलाई 2020 सुबह 10 बजकर 13 मिनिट तक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here